पीपल के औषधीय उपयोग

Feature
  • अकेला ऐसा पौध जो दिन और रात दोनांे समय आक्सीजन देता है।
  • पीपल के ताजा 6-7 पत्ते लेकर 400 ग्राम पानी में डालकर 100 ग्राम रहने तक उबालें, बर्तन एल्यूमीनियम का नहीं हो, आपका हृदय एक ही दिन में ठीक होना शुरू हो जाएगा।
  • पीपल के पत्तों पर भोजन करें, लीवर ठीक हो जाता है।
  • पीपल के सूखे पत्तों का पाउडर बनाकर आध चम्मच गुड़ में मिलाकर सुबह दोपहर शाम खायें, कितना भी पुराना दमा ठीक कर देता है ।
  • पीपल के ताजा 4-5 पत्ते लेकर पीसकर पानी में मिलाकर 1-2 बार में ही पीलिया में आराम देना शुरू कर देता है।
  • पीपल की छाल को गंगाजल में घिसकर घाव में लगायें तुरंत आराम देता है।
  • पीपल की छाल को खांड मिलाकर दिन में 5-6 बार चूसे, कोई भी नशा छूट जाता है।पीपल के पत्तों का काढ़ा पियें,
  • पफेपफड़ों, दिल, अमाशय और लीवर के सभी रोग ठीक कर देता है।
  • पीपल के पत्तों का काढ़ा बनाकर पियें, किडनी के रोग ठीक कर देता है व पथरी को तोड़कर बाहर करता है।
  • कितना भी डिप्रेशन हो, पीपल के पेड़ के नीचे जाकर रोज 30 मिनट बैठिए डिप्रेशन खत्म कर देता है।
  • पीपल की पफल और ताजा कोपलें लेकर बराबर मात्रा में लेकर पीसकर सुखाकर खांड मिलाकर दिन में 2 बार लें, महिलाओं के गर्भशाय और मासिक समय के सभी रोग ठीक करता है।
  • पीपल का पफल और ताजा कोपलें लेकर बराबर मात्रा में पीसकर सुखाकर खांड मिलाकर दिन में 2 बार लें, बच्चों का तुतलाना ठीक कर देता है और दिमाग बहुत तेज करता है ।
  • जिन बच्चों में हाइपर एक्टिविटी होती है, जो बच्चे दिनभर रातभर दौड़ते भागते हैं सोते कम हैं, पीपल के पेड़ के नीचे बैठाइए, सब ठीक कर देता है।
  • कितना भी पुराना घुटनों का दर्द हो, पीपल के नीचे बैठें 30-45 दिन में सब खत्म हो जाएगा।
  • शरीर में कहीं से भी खून आये, महिलाओं को मासिक समय में रक्त अध्कि आता हो, बवासीर में रक्त आता हो, दांत निकलवाने पर रक्त आये, चोट लग जाये, 8-10 पत्ते पीसकर, छानकर पी जाएं, तुंरत रक्त का बहना बंद कर देता है।
  • शरीर में कहीं भी सूजन हो, दर्द हो, पीपल के पत्तों को गर्म करके बांध् दंे, ठीक हो जायेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *